Friday, November 6, 2009

''हिंदी चेतना'' का नया अंक

सम्माननीय एवं मित्रों,

उत्तरी अमेरिका की त्रैमासिक पत्रिका ''हिंदी चेतना'' 

अपना नया अंक अक्तूबर २००९
में अपने पाठकों के लिए

ले कर आई  है
--


  • कहानी-- 'संस्कार शेष'--कृष्ण बिहारी (अबूदाबी )
  • संस्मरण --एक परंम्परा का अंत --रूप सिंह चंदेल
  • हिन्दी ब्लाग में इन दिनों --आत्माराम शर्मा
  • ग़ज़ल -चाँद शुक्ला 'हदियाबादी' (डेनमार्क )
  • लघु कथाएँ -बलराम अग्रवाल

 

अमेरिका, कैनेडा , यू.के. से कविताएँ, लेख, साहित्य समाचार..

बाईं  तरफ-- हिन्दी चेतना अथवा  विभौम के बटन दबा कर


इन्हें  आप पढ़ सकतें हैं--

अपनी प्रतिक्रिया से हमें ज़रूर अवगत कराएँ।

सादर सप्रेम,


सुधा ओम ढींगरा

4 comments:

श्यामल सुमन said...

प्रवास में रहकर भी आप जो हिन्दी की सेवा कर रहीं हैं, वो सराहनीय है। आपके प्रयास को नमन।

सादर
श्यामल सुमन
09955373288
www.manoramsuman.blogspot.com

Mithilesh dubey said...

आप जो कर रहीं हैं उसके प्रशंसा के लिए धब्द भी छोटे है। बहुत-बहुत शुभकामनायें आपको

गौतम राजरिशी said...

आज ही आपकी खूबसूरत कहानी पढ़ी है "टार्नेडो"..यहां पाखी में छपी है।

बहुत ही अच्छी कहानी मैम!
बधाई!

psingh said...

बहुत खूब अच्छी अच्छी रचना
बहुत बहुत आभार