Sunday, April 9, 2017

विभोम स्‍वर का अप्रैल-जून 2017 अंक अब ऑनलाइन उपलब्‍ध है।

0 comments

 

मित्रों, संरक्षक तथा प्रमुख संपादक सुधा ओम ढींगरा Sudha Om Dhingra एवं संपादक पंकज सुबीर Pankaj Subeer के संपादन में विभोम स्‍वर का अप्रैल-जून 2017 अंक अब ऑनलाइन उपलब्‍ध है। इस अंक में शामिल है :- सम्पादकीय, मित्रनामा। साक्षात्कार, अंशु जौहरी Anshu Johri , सुधा ओम ढींगरा की बातचीत। कहानियाँ- एक कायर दास्ताँ... (हर्ष बाला शर्मा Harshbala Sharma ), माँ और मोबाइल (सुदर्शन वशिष्ठ Sudarshan Vashishtha ), थी, हूँ, रहूँगी (शिवानी कोहली ), इंतज़ार (पवन चौहान Pawan Chauhan ), टीना आंटी का सपना (कादम्बरी मेहरा )। लघुकथाएँ- ब्रांड (डॉ. गजेन्द्र नामदेव Gajendra Namdeo ), सिस्टम (संदीप तोमर ), सौदा, नौकरी, साम्यवाद (सुनील गज्जाणी Sunil Gajjani ), घर की इज़्ज़त (शकुन्तला पालीवाल Shakuntala Paliwal ), भ्रम के चौराहे पर (संतोष सुपेकर Santosh Supekar )। भाषान्तर- किऊ गार्डन के पेड़ (पंजाबी कहानी : गुरनाम गिल, हिन्दी अनुवाद : शशि सहगल Sehgal )। शहरों की रूह- कुछ खूबसूरत गलियाँ कैलिफोर्निया की (मंजु मिश्रा Manju Mishra )। व्यंग्य- पांडेय जी और साहित्य महोत्सव (लालित्य ललित Lalitya Lalit ), फादर की तलाश में (अतुल चतुर्वेदी )। आलेख- प्रवासी हिन्दी कहानी और समलैंगिकता (मधु संधु Madhu Sandhu ), वैश्विक परिप्रेक्ष्य में हिन्दी भाषा (डॉ. नीलाक्षी फुकन Nilakshi Phukan )। दृष्टिकोण- प्रवासी साहित्यकार है कौन ? (विक्रम बाली ) । शोध-आलेख- उपन्यासकार उषा प्रियवंदा (संध्या चौरसिया )। ग़ज़लें- (शिवकुमार अर्चन Shivkumar Archan ) । कविताएँ- शहंशाह आलम Shahanshah Alam , आरती तिवारी Arti Tiwari , स्वरांगी साने , प्रतिभा सक्सेना, असंग घोष Asang Ghosh , सुदर्शन प्रियदर्शिनी , चित्रा देसाई Chitra Desai । गीत-अमित कुमार झा , शकुन्तला बहादुर Shakuntala Bahadur । पुस्तक समीक्षा- खिल उठे पलाश (मुकेश दुबे Mukesh Dubey ) समीक्षक : वंदना गुप्ता Vandana Gupta , पार्थ तुम्हें जीना होगा (ज्योति जैन Jyoti Jain ) समीक्षक : डॉ. गरिमा संजय दुबे , यायावरी यादों की (नीरज गोस्वामी Neeraj Goswamy ) समीक्षक : पारुल सिंह Parul Singh , चाहने की आदत है (पारुल सिंह Parul Singh ) समीक्षक : मुकेश दुबे Mukesh Dubey , अंदर का स्कूल (मनोहर अगनानी ) समीक्षक : शानू सेंगर। समाचार सार- ‘नाटक से संवाद’ का लोकार्पण Pragya Rohini , साहित्य साधना सम्मान Giriraj Sharan Agrawal , गोवा व्यंग्य महोत्सव प्रेम जनमेजय , ‘पार्थ, तुम्हें जीना होगा’ का विमोचन Jyoti Jain वनमाली कथा सम्मान Santosh Choubey , ‘कंधे पर कविता’ का विमोचन विमलेश त्रिपाठी , नरेंद्र कोहली को पद्मश्री, वीणा राष्ट्रीय पुरस्कार Kamal Kishore Goyanka , सर्वश्रेष्ठ नाटककार सम्मान Partap Sehgal , विश्वगाथा पुस्तक लोकार्पण, ढाक के तीन पात पर चर्चा Maloy Jain , जाजंगीर साहित्य महोत्सव, अमृतलाल नागर जन्मशती Sachin Gapat । आख़िरी पन्ना। आवरण चित्र पल्लवी त्रिवेदी Pallavi Trivedi, डिज़ायनिंग सनी गोस्वामी Sunny Goswami Shaharyar Amjed Khan आपकी प्रतिक्रियाओं का संपादक मंडल को इंतज़ार रहेगा। पत्रिका का प्रिंट संस्‍करण भी समय पर आपके हाथों में होगा।
ऑन लाइन पढ़ें
https://www.slideshare.net/vibhomswar/vibhom-swar-april-june-2017-for-web

https://issuu.com/hindichetna/docs/vibhom_swar_april_june_2017_for_web

वेबसाइट से डाउनलोड करें
http://www.vibhom.com/vibhomswar.html
फेस बुक पर
https://www.facebook.com/Vibhomswar
ब्‍लाग पर
http://vibhomswar.blogspot.in/
http://www.vibhom.com/blogs/
http://shabdsudha.blogspot.in/
विभोम स्‍वर टीम

Friday, January 6, 2017

विभोम स्‍वर का जनवरी-मार्च 2017 अंक अब ऑनलाइन उपलब्‍ध है।

0 comments

 

मित्रों, संरक्षक तथा प्रमुख संपादक सुधा ओम ढींगरा Sudha Om Dhingra एवं संपादक पंकज सुबीर Pankaj Subeer के संपादन में विभोम स्‍वर का जनवरी-मार्च 2017 अंक अब ऑनलाइन उपलब्‍ध है। इस अंक में शामिल है :- संपादकीय। मित्रनामा। साक्षात्कार- उषा प्रियंवदा Usha Priyamvada से सुधा ओम ढींगरा की बातचीत। कहानियाँ - पुनर्जन्म प्रतिभा, छोटा-सा शीश महल अरुणा सब्बरवाल Aruna Sabharwal , वसंत लौट रहा है कविता विकास Kavita Vikas , किस ठाँव ठहरी है-डायन ? प्रेम गुप्ता ‘मानी’ । लघुकथाएँ- डॉ. पूरन सिंह, दीपक मशाल Dipak Mashal , गोविंद शर्मा Govind Sharma । भाषान्तर- मुस्तफा की मौत तेलुगु कहानी : अफसर Afsar Mohammed , अनुवाद : आर.शांता सुंदरी Santha Sundari । शहरों की रूह लन्दन की गलियाँ शिखा वार्ष्णेय Shikha Varshney । आलेख - प्रवासी साहित्य का स्वरूप एवं अवधारणाएँ सुबोध शर्मा Subodh Sharma । दोहे- रघुविन्द्र यादव Raghuvinder Yadav , के.पी. सक्सेना ‘दूसरे’ Kpsaxena Dusre । दृष्टिकोण- महिला लेखन की चुनौतियाँ और संभावना डॉ. अनिता कपूर Anita Kapoor । शोध-आलेख- राधा का प्रेम और अस्तित्व रेनू यादव Renu Yadav। व्यंग्य- पूर्व, अपूर्व और अभूतपूर्व सुशील सिद्धार्थ, Sushil Siddharth मुरारी लाल की नरकयात्रा अरुण अर्णव खरे Arun Arnaw Khare । उपन्यास अंश- वेणु की डायरी सूर्यबाला Suryabala Lal । ग़ज़लें- डॉ. राकेश जोशी Rakesh Joshi , अशोक मिज़ाज Ashok Mizaj , आशा शैली Asha Shailly , चन्द्रसेन विराट , प्रबुद्ध सौरभ। कविताएँ- रश्मि प्रभा Rashmi Prabha , शोभा रस्तोगी Shobha Rastogi , अनीता सक्सेना Anita Saxena , प्रो. संगम वर्मा , अमेरिका की चार युवा कवयित्रियाँ- गीता घिलोरिया Gita Ghiloria , आस्था नवल Astha Naval , विनीता तिवारी एवं दिलेर ‘आशना’ दिओल । आलोचना- सुधा अरोड़ा Sudha Arora कृत ‘यह रास्ता उसी अस्पताल को जाता है’ लघु-उपन्यासः एक विवेचन संगमेश नामन्नवर । पुस्तक समीक्षा- इस पृथ्वी की विराटता में (नरेन्द्र पुण्डरीक Narendra Pundrik ), समीक्षक : कालूलाल कुलमी Kalu Lal Kulmi , पीले रूमालों की रात (नरेन्द्र नागदेव Narendra Nagdev ) समीक्षक : मुकेश निर्विकार मुकेश निर्विकार , एक पेग ज़िन्दगी (पूनम डोगरा Poonam Dogra ) समीक्षक : घनश्याम मैथिल ‘अमृत’ Ghanshyam Maithil Amrit , शौर्य गाथाएँ (शशि पाधा Shashi Padha ) समीक्षक : गौतम राजरिशी Gautam Rajrishi। समाचार सार- कोपनहेगन विश्वविद्यालय में हिन्दी संध्या Archana Painuly । प्रताप सहगल Partap Sehgal के नाटक ‘अन्वेषक’ का मंचन। बियाबान Krishna Kant Pandya फिल्म को सर्वश्रेष्ठ फिल्म का अवार्ड। मुकेश वर्मा Mukesh Verma के कहानी संग्रह का लोकार्पण। उपन्यास अकाल में उत्सव पर चर्चा। आख़िरी पन्ना। आवरण चित्र पल्लवी त्रिवेदी Pallavi Trivedi, डिज़ायनिंग सनी गोस्वामी Sunny Goswami आपकी प्रतिक्रियाओं का संपादक मंडल को इंतज़ार रहेगा। पत्रिका का प्रिंट संस्‍करण भी समय पर आपके हाथों में होगा।
ऑन लाइन पढ़ें
http://www.slideshare.net/…/vibhom-swar-january-march-for-w…

https://issuu.com/hindi…/…/vibhom_swar_january_march_for_web
वेबसाइट से डाउनलोड करें
http://www.vibhom.com/vibhomswar.html
फेस बुक पर
https://www.facebook.com/Vibhomswar
ब्‍लाग पर
http://vibhomswar.blogspot.in/
http://www.vibhom.com/blogs/
http://shabdsudha.blogspot.in/
विभोम स्‍वर टीम

विभोम स्‍वर का जनवरी-मार्च 2017 अंक अब ऑनलाइन उपलब्‍ध है।

0 comments

मित्रों, संरक्षक तथा प्रमुख संपादक सुधा ओम ढींगरा Sudha Om Dhingra एवं संपादक पंकज सुबीर Pankaj Subeer के संपादन में विभोम स्‍वर का जनवरी-मार्च 2017 अंक अब ऑनलाइन उपलब्‍ध है। इस अंक में शामिल है :- संपादकीय। मित्रनामा। साक्षात्कार- उषा प्रियंवदा Usha Priyamvada से सुधा ओम ढींगरा की बातचीत। कहानियाँ - पुनर्जन्म प्रतिभा, छोटा-सा शीश महल अरुणा सब्बरवाल Aruna Sabharwal , वसंत लौट रहा है कविता विकास Kavita Vikas , किस ठाँव ठहरी है-डायन ? प्रेम गुप्ता ‘मानी’ । लघुकथाएँ- डॉ. पूरन सिंह, दीपक मशाल Dipak Mashal , गोविंद शर्मा Govind Sharma । भाषान्तर- मुस्तफा की मौत तेलुगु कहानी : अफसर Afsar Mohammed , अनुवाद : आर.शांता सुंदरी Santha Sundari । शहरों की रूह लन्दन की गलियाँ शिखा वार्ष्णेय Shikha Varshney । आलेख - प्रवासी साहित्य का स्वरूप एवं अवधारणाएँ सुबोध शर्मा Subodh Sharma । दोहे- रघुविन्द्र यादव Raghuvinder Yadav , के.पी. सक्सेना ‘दूसरे’ Kpsaxena Dusre । दृष्टिकोण- महिला लेखन की चुनौतियाँ और संभावना डॉ. अनिता कपूर Anita Kapoor । शोध-आलेख- राधा का प्रेम और अस्तित्व रेनू यादव Renu Yadav। व्यंग्य- पूर्व, अपूर्व और अभूतपूर्व सुशील सिद्धार्थ, Sushil Siddharth मुरारी लाल की नरकयात्रा अरुण अर्णव खरे Arun Arnaw Khare । उपन्यास अंश- वेणु की डायरी सूर्यबाला Suryabala Lal । ग़ज़लें- डॉ. राकेश जोशी Rakesh Joshi , अशोक मिज़ाज Ashok Mizaj , आशा शैली Asha Shailly , चन्द्रसेन विराट , प्रबुद्ध सौरभ। कविताएँ- रश्मि प्रभा Rashmi Prabha , शोभा रस्तोगी Shobha Rastogi , अनीता सक्सेना Anita Saxena , प्रो. संगम वर्मा , अमेरिका की चार युवा कवयित्रियाँ- गीता घिलोरिया Gita Ghiloria , आस्था नवल Astha Naval , विनीता तिवारी एवं दिलेर ‘आशना’ दिओल । आलोचना- सुधा अरोड़ा Sudha Arora कृत ‘यह रास्ता उसी अस्पताल को जाता है’ लघु-उपन्यासः एक विवेचन संगमेश नामन्नवर । पुस्तक समीक्षा- इस पृथ्वी की विराटता में (नरेन्द्र पुण्डरीक Narendra Pundrik ), समीक्षक : कालूलाल कुलमी Kalu Lal Kulmi , पीले रूमालों की रात (नरेन्द्र नागदेव Narendra Nagdev ) समीक्षक : मुकेश निर्विकार मुकेश निर्विकार , एक पेग ज़िन्दगी (पूनम डोगरा Poonam Dogra ) समीक्षक : घनश्याम मैथिल ‘अमृत’ Ghanshyam Maithil Amrit , शौर्य गाथाएँ (शशि पाधा Shashi Padha ) समीक्षक : गौतम राजरिशी Gautam Rajrishi। समाचार सार- कोपनहेगन विश्वविद्यालय में हिन्दी संध्या Archana Painuly । प्रताप सहगल Partap Sehgal के नाटक ‘अन्वेषक’ का मंचन। बियाबान Krishna Kant Pandya फिल्म को सर्वश्रेष्ठ फिल्म का अवार्ड। मुकेश वर्मा Mukesh Verma के कहानी संग्रह का लोकार्पण। उपन्यास अकाल में उत्सव पर चर्चा। आख़िरी पन्ना। आवरण चित्र पल्लवी त्रिवेदी Pallavi Trivedi, डिज़ायनिंग सनी गोस्वामी Sunny Goswami आपकी प्रतिक्रियाओं का संपादक मंडल को इंतज़ार रहेगा। पत्रिका का प्रिंट संस्‍करण भी समय पर आपके हाथों में होगा।
ऑन लाइन पढ़ें
http://www.slideshare.net/…/vibhom-swar-january-march-for-w…

https://issuu.com/hindi…/…/vibhom_swar_january_march_for_web
वेबसाइट से डाउनलोड करें
http://www.vibhom.com/vibhomswar.html
फेस बुक पर
https://www.facebook.com/Vibhomswar
ब्‍लाग पर
http://vibhomswar.blogspot.in/
http://www.vibhom.com/blogs/
http://shabdsudha.blogspot.in/
विभोम स्‍वर टीम