Wednesday, October 2, 2019

शिवना साहित्यिकी का वर्ष : 4, अंक : 15 त्रैमासिक : अक्टूबर-दिसम्बर 2019

0 comments

मित्रों, संरक्षक एवं सलाहकार संपादक, सुधा ओम ढींगरा Sudha Om Dhingra , प्रबंध संपादक नीरज गोस्वामी Neeraj Goswamy , कार्यकारी संपादक, शहरयार Shaharyar Amjed Khann , सह संपादक पारुल सिंह Parul Singh के संपादन में शिवना साहित्यिकी का वर्ष : 4, अंक : 15 त्रैमासिक : अक्टूबर-दिसम्बर 2019 का वेब संस्करण अब उपलब्ध है। इस अंक में शामिल है- आवरण कविता / भगवत रावत Pragya Rawat , संपादकीय / शहरयार, व्यंग्य चित्र / काजल कुमार Kajal Kumar , साक्षात्कार - गीताश्री Geeta Shree से पारुल सिंह Parul Singh की बातचीत, पुस्तक चर्चा- हिंदी वृहद् व्याकरण कोश, सचिन तिवारी / डॉ. के.आर. महिया एवं डॉ. विमलेश शर्मा, कहाँ हो तुम / डॉ. रामसिया शर्मा Ramsiya Sharma / भावना भट्ट Bhavna Bhatt , काव्य मंजरी / संदीप सरस Sandeep Saras / सुरेश सौरभ @suresh saurabh , उपनिषद की कहानियाँ / सचिन तिवारी / डॉ. पन्ना प्रसाद। पुस्तक समीक्षा- मन्नत टेलर्स, वंदना वाजपेयी Vandana Bajpai / प्रज्ञा Pragya Rohini, ग़ाफ़िल, प्रकाश कांत Prakash Kant / सुनील चतुर्वेदी Sunil Chaturvedi, पालतू बोहेमियन, कमलेश पाण्डेय Kamlesh Pandey / प्रभात रंजन Prabhat Ranjan , झरोखा, अपर्णा भटनागर / पंकज त्रिवेदी Pankaj Trivedi , चौधराहट, नीलोत्पल रमेश @nilotpal ramesh / जयनंदन Jai Nandan , कितने अभिमन्यु, वेदप्रकाश अमिताभ @ved prakash amitabh / योगेंद्र शर्मा Yogendra Sharma , जागती आँखों का सपना, डॉ. रमाकांत शर्मा / मंजुश्री Manju Shri , कच्चा रंग, डॉ. अनीता कपूर Anita Kapoor / डॉ. पल्लवी शर्मा Pallavi Sharma , नव अर्श के पाँखी, सुभाष काबरा @subhash kabra / अनुपमा श्रीवास्तव अनु श्री अनु श्री, यादों के दरीचे, माधुरी / प्रभाशंकर उपाध्याय @prabhashankar upadhyay , चुप्पियों के बीच नीरज नीर Neeraj Neer / डॉ. भावना कुमारी @bhawna kumari । शोध आलेख- गांधी की पत्रकारिता का भारतीय मॉडल डॉ. कमल किशोर गोयनका Kamal Kishore Goyanka । फ़िल्म समीक्षा- मेकिंग आफ महात्मा, वीरेन्द्र जैन Virendra Jainn / निर्देशकः श्याम बेनेगल। केंद्र में पुस्तक- जिन्हें जुर्म-ए-इश्क़ पे नाज़ था, पंकज पराशर Pankaj Parashar , मनीषा कुलश्रेष्ठ Manisha Kulshreshtha , शुभम तिवारी Shubham Tiwari , ब्रजेश राजपूत Brajesh Rajput , कविता वर्मा Kavita Verma , दिनेश पाल Dinesh Pal । लेखक : पंकज सुबीर। आवरण चित्र राजेंद्र शर्मा बब्बल गुरू, डिज़ायनिंग सनी गोस्वामी Sunny Goswamii। आपकी प्रतिक्रियाओं का संपादक मंडल को इंतज़ार रहेगा। पत्रिका का प्रिंट संस्करण भी समय पर आपके हाथों में होगा।
ऑन लाइन पढ़ें-
https://www.slideshare.net/shivnaprakashan/shivna-sahityiki-oct-dec-2019

https://issuu.com/home/published/shivna_sahityiki_oct_dec_2019

साफ़्ट कॉपी पीडीऍफ यहाँ से डाउनलोड करें

http://www.vibhom.com/shivnasahityiki.html